दूध के फायदे और नुकसान | Milk ke fayde aur nuksan in Hindi

दूध सेहत के लिए अच्छा है या बुरा? – Doodh ke fayde aur nuksan in Hindi

दूध में कैल्शियम, प्रोटीन और विटामिन डी सहित कई आवश्यक पोषक तत्वों मौजूद होते है। शायद इसीलिए दूध को सम्पूर्ण आहार कहा जाता है।

इस लेख में दूध के फायदे और नुकसान के बारे में बताया गया है, यह आपको दूध के बारे में स्पष्ट होने में मदद करेगा और दूध से जुड़े आपके भ्रम को कम करेगा।

 

दूध में मौजूद पोषक तत्व – Milk nutrition in Hindi

दूध को संपूर्ण आहार माना जाता है। इसमें 22 से 18 पोषक तत्व मौजूद होते हैं।

इसमें किसी अन्य सम्पूर्ण आहार की तुलना में लगभग बराबर प्रति मात्रा में कैलोरी कैल्शियम, मैग्नीशियम, फास्फोरस, पोटेशियम, जस्ता और प्रोटीन होता है।

अन्य सभी पोषक तत्वों की तुलना में दूध में वसा अधिक होता है।

3.5% से 3.8% वसा के साथ एक गिलास दूध (245 ग्राम) में ये सभी पोषक तत्व शामिल हैं:

  • 149 कैलोरी
  • 9 ग्राम वसा
  • 7 ग्राम प्रोटीन
  • 3 ग्राम चीनी
  • 276 मिलीग्राम (मिलीग्राम) कैल्शियम
  • 205 मिलीग्राम फास्फोरस
  • 322 मिलीग्राम पोटेशियम
  • 2 माइक्रोग्राम (एमसीजी) विटामिन डी

इसके अलावा, एक गिलास दूध (245 ग्राम) नॉनफैट या स्किम दूध में शामिल हैं:

  • 83 कैलोरी
  • 2 ग्राम वसा
  • 2 ग्राम प्रोटीन
  • 4 ग्राम चीनी
  • 298 ग्राम कैल्शियम
  • 246 मिलीग्राम फास्फोरस
  • 381 मिलीग्राम पोटेशियम
  • 9 एमसीजी विटामिन डी

दोनों प्रकार के दूध में इन सभी पोषक तत्वों के अलावा, दूध में ये सभी पोषक तत्व भी शामिल हैं:

 

दूध के फायदे – Milk benefits in Hindi

दूध के पोषक तत्व शरीर को कई तरह से फायदा पहुंचा सकते हैं। आइए जानते हैं दूध के कुछ फायदों के बारे में।

 

हड्डी के विकास में मददगार – Milk for bone health in Hindi

दूध हड्डियों के लिए अच्छा हो सकता है। क्योंकि यह विटामिन डी और कैल्शियम प्रदान करता है।

2016 के एक अध्ययन के अनुसार, दूध बच्चों में वजन बढ़ने और हड्डियों को मजबूत बनाने में मदद करता है। यह बचपन के फ्रैक्चर के जोखिम को भी कम करता है।

शोध से पता चलता है कि जिन गर्भवती महिलाओं ने दूध का बहुत अधिक सेवन किया था, ऐसी महिलाओ के बच्चे बेहतर हड्डियों के विकास और स्वस्थ हेल्थ वाले थे।

इसके अतिरिक्त,  कुछ लोगों के आहार में अधिक दूध शामिल किया गया बाद में पाया गया। कि इन लोगो इनकी हड्डियों के स्वास्थ्य में काफी बेहतरी देखी गयी।

दूध प्रोटीन भी प्रदान करता है जो स्वस्थ हड्डियों, दांतों और मांसपेशियों के निर्माण और रखरखाव के लिए आवश्यक हैं। एक गिलास दूध से लगभग 6 से 7 ग्राम कैसिइन और व्हे प्रोटीन मिलता है।

 

दिमाग के लिए स्वस्थ – Milk for brain health in Hindi

कुछ शोधकर्ताओं ने पाया है कि जो लोग अधिक दूध या डेयरी प्रोडक्ट्स का सेवन करते हैं, उनके मस्तिष्क में ग्लूटाथियोन की मात्रा अधिक होती है, जोकि एक शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट है।

जिन लोगों ने दूध और दूध उत्पादों की दिन में तीन सर्विंग्स का सेवन किया हैं,  उनमें एंटीऑक्सिडेंट का लेवल लगभग 30% अधिक था और जो लोग दिन में अपनी डाइट में दूध या दूध प्रोडक्ट्स कम लेते हैं। ऐसे लोगो में एंटीऑक्सिडेंट का लेवल लगभग 30% कम पाया गया।

 

हृदय स्वास्थ्य के लिए दूध – Milk for heart health in Hindi

मिल्क फैट एचडीएल कोलेस्ट्रॉल (अच्छा कोलेस्ट्रॉल) के लेवल को बढ़ाने में मदद कर सकता है। एचडीएल कोलेस्ट्रॉल का लेवल सही रहने से हृदय रोगों और स्ट्रोक को रोका जा सकता है।

इसके अलावा दूध पोटैशियम भी अच्छी मात्रा में होता है। जो ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में मदद करता है।

चरागाह या घास-फूस खाने वाली गायें या भैसों के दूध में ओमेगा -3 फैटी एसिड और संयुग्मित लिनोलिक एसिड अधिक मात्रा में पाए जाते हैं। ये हृदय और रक्त वाहिकाओं के स्वास्थ्य की रक्षा करने में मदद करते हैं।

 

भूख कंट्रोल में मददगार Milk for appetite control in Hindi

दूध, भूख को कम करने में मदद कर सकता है। 49 लोगों के 2013 के एक अध्ययन से पता चला है कि दूध ने लोगों की भूख को कंट्रोल करने में मदद की हैं उन्हें भरा हुआ, पूर्ण महसूस करने में मदद की हैं।

 

मधुमेह की रोकथाम – Milk for diabetes in Hindi

टाइप 2 मधुमेह में लोगो का ब्लड सुगर काफी ज्यादा बढ़ जाता हैं। जो टाइप 2 डायबिटीज का मुख्य कारण है। डायबिटीज से कई बीमारीयों के होने का खतरा बना रहता हैं।

  • दिल की बीमारी
  • आघात
  • गुर्दे की बीमारी

कई अध्ययनों में पाया गया है कि दूध पीने से लोगो में टाइप 2 डायबिटीज को रोकने में मदद मिल सकती है। ऐसा इसलिए हो सकता है। क्योंकि दूध में मौजूद प्रोटीन आपके ब्लड सुगर के संतुलन में सुधार करता है।

 

दूध के नुकसान – Milk side effects in Hindi

दूध के ज्यादातर फायदे ही हैं। लेकिन कुछ हालातों में इसके साइड इफेक्ट्स भी देखे जा सकते है।

 

चेहरे पर दूध के साइड इफेक्ट्स – Milk side effects on face in Hindi

2016 के एक अध्ययन में पाया गया कि जिन लोगो ने अधिक मात्रा में कम फैट या स्किम दूध पिया। उनके चहरे पर मुँहासे देखने को मिले।

अन्य अध्ययनों में मुँहासे स्किम्ड और कम फैट वाले दूध को पिने से हुए है। यह इंसुलिन और इंसुलिन जैसी वृद्धि कारक हार्मोन पर दूध के प्रभाव के कारण हो सकता है।

 

दूध से एलर्जी – Milk allergy in Hindi

कुछ विशेषज्ञों का मानना है कि 10% बच्चों को दूध से एलर्जी होती है। यह त्वचा की एलर्जी पैदा कर सकता है, जैसे कि एक्जिमा, और आंत के लक्षण, जैसे:

  • उदरशूल
  • कब्ज़
  • दस्त

इनके अलावा अन्य गंभीर समस्याओ में शामिल हैं:

  • तीव्रग्राहिता
  • घरघराहट
  • सांस लेने मे तकलीफ
  • रक्त – युक्त मल

 

दूध में मौजूद लैक्टोज के साइड इफेक्ट – Lactose milk side effects in Hindi

दूध में लैक्टोज पाया जाता हैं। इसमें लैक्टोज होने के कारण आपको पाचन तंत्र से संबंधित समस्याएं हो सकती हैं।

दूध पिने से कब्ज की समस्या में आराम मिलता है। लेकिन वही दूध पिने से कई समस्याएं हो सकती हैं जैसे:

  • उल्टी
  • दस्त
  • गैस
  • पेट फूलना
  • पेट दर्द
  • उबकन

कुछ बच्चो को दूध में पाए जाने वाला कैसिन प्रोटीन पचता नहीं हैं। जिससे उन्हें कई प्रोब्लेम्स हो सकती हैं।

इसे पढ़ें – दूध कब कितना और कैसे पिए।

 

निष्कर्ष – The Conclusion

दूध में सभी आवश्यक पोषक तत्व मौजूद होते हैं। दूध प्रोटीन और कैल्शियम सहित कई विटामिन और खनिज प्रदान करता है, जो अच्छे स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है।

घास-फूस खाने वाली गाय – भैसों के दूध में अधिक मात्रा में पोषक पाए जाते है।

जो कोई भी दूध पीना चाहता है, वैसे तो दूध के ज्यादातर फायदे ही हैं। लेकिन कुछ हालातों में इसके साइड इफेक्ट्स भी देखे जा सकते है।

अगर आप दूध को लेकर तरह से विचार में है, तो अपने डॉक्टर या आहार विशेषज्ञ से बात कर सकते है।

 

Share

Leave a Comment