Deo या Perfume लगाने के नुकसान | DEO or perfume loss.

Deo या Perfume लगाने के नुकसान – Disadvantages of applying Deo or Perfume

क्या आप जानते है किस तरह Deo या Perfume लोशन क्रीम और तेलों में डाली जाने वाली खुशबू हमारी स्किन और बॉडी को किस तरह से नुकसान पहुंचाते हैं।

ज्यादा से ज्यादा खुशबू की रेसिपी यानी कि यह किन पदार्थों से बनाए गए हैं। यह ट्रेड सीक्रेट लॉ के अंतर्गत आता है, यानि मैन्युफैक्चर करने वाली कंपनी को यह लिखना बिल्कुल भी जरूरी नहीं है कि उसने यह खुशबू बनाने के लिए किन-किन चीजों का इस्तेमाल किया है।

70 से 80 प्रतिशत से ज्यादा खुशबू में डाले जाने वाले पदार्थ पेट्रोकेमिकल्स होते हैं।  इसके आलावा अल्कोहल ईथर फॉर्मएल्डिहाइड स्पाइस या मसाले फल, फूल, खुशबूदार जड़े और जानवरों की ग्रंथियों से निकाले गए पदार्थ आदि।

इन सभी चीजों से तरह-तरह की खुशबू बनाई जाती है। इनमें से कई पदार्थ हमारे लिए हानिकारक और काफी जहरीले साबित हो सकते हैं, क्योंकि इनमें पेट्रोकेमिकल्स और अल्कोहल मिले होते हैं।  तभी तो इन पर हमेशा लिखा होता है कि बच्चों की पहुँच से दूर रखे इसे शरीर के अंदर न ले जाये, सिर्फ बॉडी के उपर ही इसका इस्तेमाल करें, और आग के पास भी न ले जाये।

कई बार खुशबू के लिए इनमे जो पेड़ पौधे और जड़े डाली जाती हैं लोगों को उनसे भी एलर्जी हो जाती हैं, जबकि उस में डाले गए केमिकल से लोगों को कोई नुकसान नहीं होता है।

बहुत से लोग परफ्यूम लगाते समय परफ्यूम की बोतल को पकड़कर बॉडी के चारों तरफ स्प्रे कर देते हैं।  इस तरह परफ्यूम लगाने से परफ्यूम आपकी बॉडी पर तो लगता ही है, साथ ही आपकी साँस के द्वारा आपके शरीर के अंदर भी चला जाता है।

यह केमिकलस सिगरेट के धुए से भी ज्यादा हार्मफुल यानि खतरनाक होते हैं। सबसे बड़ी बात यह है कि आपको यह पता ही नहीं कि आपके स्प्रे में कौन-कौन से डेंजरस केमिकल है, जो सांस के साथ आपके शरीर के अंदर चले जाते हैं। इनमें से कई केमिकल से लोगों को अस्थमा, एलर्जी, किडनी डैमेज, कैंसर, मानसिक तनाव और पैदा हुए बच्चों को भी डिफेक्ट कर सकते हैं।

यह केमिकल आपकी स्किन को सनलाइट से ही सेंसिटिव कर देते हैं, जो लोग कई साल तक लगातार  खुशबू वाले तेल मॉइस्चराइजर क्रीम आदि। लगाते हैं, उन लोगों की स्क्रीन का कलर धीरे-धीरे काला पड़ने लगता है

यहां ध्यान देने वाली बात यह है कि सबसे एक्सपेंसिव यानि काफी महंगी क्रीम लोशन आदि।  जिनकी कीमत हजारों रुपए में होती हैं, उनमें बहुत कम या कोई खुशबू ही नहीं होती है, लेकिन काफी क्रीम और सेंट जिनकी कीमत ₹100 भी नहीं होती है लेकिन उनमें खुशबू पूरी तरह से भरी होती है।

यदि आप अपनी स्क्रीन पर एक ही जगह पर सेंट या डियो स्प्रे बार-बार लगाते हैं, तो कुछ दिनों बाद वहां की स्किन काली पड़ने लगती हैं।

बहुत से लोगों ने यह भी नोटिस किया होगा जो बार-बार अपने अंडर आर्म्स को स्प्रे करते हैं, तो उन लोगों की अंडर आर्म काली पड़ने लगती हैं, लेकिन परफ्यूम लगाना सभी लोग पसंद करते हैं।

लेकिन जब भी आप कोई परफ्यूम खरीदे तो एक बात का जरुर ध्यान रखे उस परफ्यूम में किसी भी तरह का कोई हानिकारक केमिकल ना हो और परफ्यूम को कभी भी डायरेक्ट बॉडी पर स्प्रे ना करें, सिर्फ इसे अपने कपड़ों पर ही लगाएं खुशबूदार सेट क्रीम या लोशन लगाने से आपकी स्किन सुखी पड़ सकती हैं, काली पड़ सकती है या फिर किसी तरह की एलर्जी भी हो सकती हैं।

स्किन और बालों के लिए सबसे अच्छा कोकोनट ऑयल होता है हो सकता है। इसकी खुशबू आपको अच्छी ना लगे, लेकिन यह आपकी स्किन और बालों को स्वस्थ रखता है।

इसे भी पढ़े – जानिए ! हाइट बढ़ाने का सबसे कारगर तरीका

1 thought on “Deo या Perfume लगाने के नुकसान | DEO or perfume loss.”

Leave a Comment