ज्यादा पानी पीना ठीक नहीं | How much water to drink in a day

ज्यादा पानी पीना सेहत के लिए ठीक नहीं – Drinking too much water is harmful

ज्यादातर लोग पानी की एक बोतल लिए घूम रहा हैं और थोडा थोडा करके पानी पी रहा हैं। क्योंकि पानी कि मार्केटिंग कुछ इस तरह कि गयी हैं। जिसकी वजह से लोग खूब पानी पी रहे हैं।

लेकिन शायद आप यह नहीं जानते हैं कि ज्यादा पानी पीना भी बॉडी के लिए सही नहीं हैं खास कर प्यास न लगने पर भी एक दो घूट पानी पी लेना

इससे आपके दिमाग में सुजन आ सकती हैं

और जब आपको प्यास लगती हैं उस टाइम आप पानी न पियो तो बॉडी को काफी नुक्सान हो सकता हैं

अगर आपकी बॉडी को पानी की जरुरत हैं तो जरुरी नहीं हर बार पानी ही पिया जाये आपको ऐसी चीजे भी खानी चाहिए जिनमे पानी की क्वांटिटी अधिक हो

मैं बात कर रहा हूँ plant बेस्ड फ़ूड कि यानि ऐसे vegetable और fruits जिनमे पानी हाई क्वांटिटी में हो

देखा जाये तो सभी फ्रूट्स में 90 % वाटर होता हैं और vegatables में 70 %

आपने जरुर सुना होगा या फिर पढ़ा होगा कि हर दिन 3 से 4 लीटर पानी जरुर पिए

लेकिन अगर आपको प्यास नहीं लगती तो क्या आपको तब भी ज्यादा पानी पीना चाहिए

पानी को लेकर बहुत सारी अफवाहें हैं जो कि कुछ ही सालों में चर्चा में आई है

आखिर दिन में कितना पानी पीना चाहिए आइए जानते हैं

 

ज्यादा पानी पीने से क्या होगा – What will happen when you drink more water

आपको प्यास लगती है और आप पीते हैं तो यह बिलकुल सही हैं It’s natural जितनी प्यास हैं उससे थोडा ज्यादा पानी पी लेने से भी कोई दिक्कत नहीं हैं। क्योंकि बॉडी को जितने पानी की जरुरत हैं वो उतना ही पानी लेगी एक्स्ट्रा पानी को बाहर निकाल देगी।

और जब आपको प्यास नहीं हैं आप तब पानी पीते हैं तो यह बिलकुल गलत हैं। It’s not natural

प्यास न लगने पर पानी पिने से आपकी बॉडी को काफी नुकसान हो सकता हैं और जब आप प्यास न होने पर भी बीच बीच में एक दो घूट पानी पीते रहते हैं, तो यह और भी ज्यादा खतरनाक हैं।

प्यास लगने पर थोडा ज्यादा पानी पी लेने से भी कोई दिक्कत नहीं हैं। लेकिन प्यास ना लगने पर भी पानी पीना खासकर बीच में एक दो घूट ऐसे ही पी लेना।

इस एक दो घूट पानी को लेकर बॉडी कंफ्यूज हो जाती हैं। उसे समझ नहीं आता कि इसका क्या करू क्योंकि बॉडी को पानी कि इस समय जरुरत नहीं हैं। क्योंकि पानी बहुत थोड़ी क्वांटिटी में हैं, तो हमारी बॉडी उसे अवशोषित कर लेती हैं जबकि इस टाइम बॉडी को पानी की जरुरत नहीं हैं।

इससे बॉडी में सोडियम का लेवल डाउन हो जाता हैं। इसके कम होने का इफ़ेक्ट तुरंत देखी नहीं देता थोड़े लम्बे समय के बाद जरुर देखाई देता है  बॉडी के कई पार्ट इफ़ेक्ट होते हैं।

सोडियम की कमी का सबसे ज्यादा इफ़ेक्ट आपके दिमाग में होता हैं। इसकी कमी से दिमाग में सुजन आ जाती हैं।

Because बॉडी में सोडियम की कमी हैं और जब आप पानी पीते हैं, तो सोडियम के लेवल को बैलेंस करने के लिए जरुरत से ज्यादा पानी दिमाग में चला जाता हैं।

और ज्यादा पानी पिने से मानसिक असंतुलन आ जाता हैं।

पानी शरीर की प्रकृति आवश्यकता है। जब भी शरीर को पानी की जरुरत पड़ती हैं और तभी आपको प्यास लगती हैं और प्यास लगने पर ही हमेशा पानी पिए।

 

ज्यादा प्यास लगने का कारण क्या है – Cause of excessive thirst in hindi

ज्यादा प्यास लगने का एक सबसे बड़ा कारण है। आज का खानपान ज्यादातर लोग फ़ूड के नाम पर ओने शरीर में कचरा डाल रहे हैं जैसे कि फ़ास्ट फ़ूड।

जब आप फ़ास्ट फ़ूड खाते है तो वह आपके पेट में जाकर जम जाता हैं। अब इस जमे हुए फ़ूड को साफ़ करने के लिए पानी चाहिए।

इन भोजन में नैचुरली पानी न होने कि वजय से ये पेट में जाकर चिप जाते हैं और इसी कि वजय से आपको ज्यादा पानी पीना पड़ता हैं और आपको Digestion related problems होने लगती हैं।

लेकिन जब आप plant बेस्ड फ़ूड खाते हैं, तो आपको कम प्यास लगती हैं। क्योंकि plant बेस्ड फ़ूड में already 70 80 % पानी होता हैं।

और यह पेट में जाकर जमता या चिपकता बिलकुल नहीं हैं और अच्छी तरह से पच भी जाता हैं।

Plant बेस्ड फ़ूड खाने से आपका digestion हमेशा ठीक रहता हैं।

आपको ऐसी चीजे खानी चाहिए जिनमे नैचुरली वाटर हो, तो जो भी फ़ूड आप खाए उसमे कम से कम 70 % पानी होना चाहिए।

और यही वजह है। आपके खाने में सब्जिया और फल जरुर होने चाहिए ताकि शरीर में पानी का बैलेंस बना रहे।

इसे पढ़ें – पानी कब कितना और कैसे पिए

ज्यादा पानी पीने की सलाह – Advice to drink more water

तो यदि आपको कोई सलाह दे कि खूब पानी पियो प्यास न हो तब भी पानी पियो ज्यादा पानी पीना सही हैं। पानी से कोई दिक्कत नहीं होती, तो शायद आप जान चुके हैं कि आपको क्या करना हैं।

ज्यादा पानी पीना सेहत के लिए ठीक नहीं है।

तो जब भी आपको प्यास लगे 30 घंटे के भीतर पानी पी ले और प्यास लगने पर आप थोडा ज्यादा पानी भी पिटे हैं, तो भी कोई problem नहीं हैं क्यों कि शरीर को जितना पानी चाहिए। वो उतना ही लेगा बाकि पी को बाहर निकाल देगा।

Leave a Comment