आंखों के काले घेरे (डार्क सर्कल्स का इलाज) – Dark circles solution in Hindi

आंखों के काले घेरे को कैसे हटाएं – How to remove dark circles in Hindi

अगर आप भी अपनी आंखों के काले घेरे यानि Dark Circles को हमेशा के लिए हटाना चाहते हो तो यह आपके लिए हैं।

जब आंखों के चारों तरफ स्किन का कलर थोड़ा डार्क होने लगे तो उसे डार्क सर्कल्स कह देते हैं और इसकी वजह से हमारा चहरा ख़राब दिखने लगता हैं।

लेकिन सबसे पहले आपको यह जानना जरुरी हैं कि यह कोई बीमारी बिलकुल नहीं हैं। यह एक टाइप का लक्षण हैं जो हमें चेतावनी देता हैं कि आपकी बॉडी के अंदर किसी तरह कि कोई दिक्कत हैं। यानि एक साइन एक इंडिकेशन जो आपकी बॉडी देने की कोशिश कर रही है कि अंदर कुछ गड़बड़ शो रही है।

 

दोस्तों क्या आपको पता हैं हमारी आखो कि आसपास की स्किन हमारे फेस कि स्किन से थोड़ी पतली और संवेदनशील होती हैं और इसमें Elastic and Collagen Tissue कम होते हैं और इतना ही नहीं इसमें Oil and Sweat Glands भी बहुत कम होती हैं।

यही कारण हैं कि आँखों के आसपास की स्किन हमेशा ड्राई रहती हैं और हमारे लाइफस्टाइल का असर भी सबसे पहले हमारी आँखों पर ही दिखाई देता हैं। यानि हमारी आँखों की स्किन ही सबसे पहले डैमेज होती हैं और इसीलिए डार्क सर्कल्स को प्रीमेच्योर एजिंग का पहला साइन माना जाता है।

 

आज की मॉडर्न लाइफ स्टाइल में डाक सर्कल की प्रॉब्लम बहुत ही कॉमन हो चुकी है  दोस्तों जब हम इसका ट्रीटमेंट स्टार्ट करते हैं, तो हमें ध्यान देना हैं कि ऊपरी ट्रीटमेंट के साथ-साथ हमारे शरीर के अंदर जो कमी है। जिसकी वजह से यह डार्क सर्कल्स बन रही है उसका भी हम साथ इलाज करें क्योंकि तभी हम इन डार्क सर्कल्स की परमानेंटली छुट्टी कर सकते हैं।

 

डार्क सर्कल्स होने के कारण – Dark Circles causes in Hindi

सबसे पहली बात करते हैं कि डार्क सर्कल्स क्यों होते है। आंखों के काले घेरे यानि डार्क सर्कल्स बनने के क्या रीजंस हो सकते हैं।

 

आनुवंशिकी – Genetics

दोस्तों डार्क सर्कल्स होने के कई कारण हो सकते हैं लेकिन सबसे आम कारण हैं। Genetics मतलब अगर आपकी फैमिली में किसी को भी डार्क सर्कल्स है यानी आपके भाई बहन या पेरेंट्स किसी को भी है तो ज्यादा चांस है कि आपको भी डार्क सर्कल्स हो सकते हैं।

 

शरीर में विटामिन की कमी – Vitamin deficiency

दूसरा कारण हैं Vitamin deficiency यानि शरीर में विटामिन की कमी यानी आपको अमीनिया हो खून की कमी हो न्यूट्रिशन डिफिशिएंसी हो तो तब भी आंखों के नीचे डार्क सर्कल्स बन सकते हैं।

 

मोबाइल लैपटॉप का अधिक उपयोग – Mobile laptop usage

तीसरा कारण हो सकता हैं जो हम आजकल के यंगस्टर्स में देखते हैं कि फोन मोबाइल लैपटॉप इन सबका ज्यादा यूज़ करते हैं और ज्यादा लम्बे समय तक करते हैं। बिना ब्रेक के आप अपनी आंखों को लंबे समय तक स्ट्रेस देते हैं तब अंडर आई डार्क सर्कल्स और बढ़ जाते हैं।

 

आदतें – Lifestyle habits

चौथा कारण है हमारी लाइफ स्टाइल हैबिट्स  अगर आप पानी कम पीते हो, कंप्लीट नींद नहीं लेते हो, स्मोकिंग एंड ड्रिंकिंग करते हो, तो आंखों के नीचे डार्क सर्कल्स बढ़ जाते हैं।

 

बढ़ती उम्र – Ageing

पांचवा कारण हो सकता है एजिंग जैसे ही उम्र बढ़ती हैं तो हमारी आंखों के नीचे रिंकल्स आ जाते हैं। स्किन पतली हो जाती है और फेट पैड्स कम हो जाते हैं इस वजह से भी अंडर आई डार्क सर्कल्स हो सकते हैं।

 

डार्क सर्कल्स से बचने के उपाय – Ways to remove dark circles naturally in Hindi

अगर आपके अंडर आई डार्क सर्कल्स नहीं है और आप चाहते हो की यह प्रॉब्लम आपको कभी ना हो, तो आपको कुछ बातों का ध्यान जरूर रखना है जैसे ज्यादा पानी पिए नींद पूरी ले 6 से 8 घंटे कंपलीट नींद लेना जरूरी है नींद को तो अवॉइड ना ही करें तो ही बेहतर है।

फोन या लैपटॉप का कम से कम यूज करें, ब्लू लाइट फिल्टर का इस्तेमाल करें, अपनी स्क्रीन का ब्राइटनेस कम रखें। इन सब चीजों से आपकी आईज इजीली टायर्ड नहीं होंगी अगर आप ज्यादा लंबे समय तक स्क्रीन के सामने बैठकर काम करते हैं, तो बीच-बीच में 5 मिनट के लिए रेस्ट लेते रहें। ऐसा करने से आपकी आंखें जल्दी टायर्ड नहीं होंगी और आपकी आंखों के नीचे डार्क सर्कल्स नहीं बनेंगे।

आंखों के अराउंड जो स्किन होती है उसका ख्याल रखना ज्यादा जरूरी होता है। इसलिए सोने से पहले इन्हें मोशुराइजर करें और बाहर निकलते वक्त सनस्क्रीन का इस्तेमाल करें।

 

 

डार्क सर्कल्स हटाने के घरेलू उपाय – Home remedies to remove dark circles in Hindi

तो आइए अब बात करते हैं कि आंखों के काले घेरे यानि  अंडर आई डार्क सर्कल्स को हमेशा के लिए कैसे हटाया जा सकता है।

 

कोई भी होम रिमेडी यूज करने से पहले हमें यह समझना होगा कि अंडर आई एरिया बहुत ही नाजुक और सेंसेटिव होता है। इसलिए इस पर कुछ भी अप्लाई करने से पहले हमें इस एरिया को अच्छी तरह से मोशुराइजर कर लेना चाहिए। इसे मोशुराइजर करने के लिए आप कोकोनट ऑयल एलोवेरा जेल या हनी का इस्तेमाल कर सकते हो।

 

काले घेरे के लिए एलोवेरा जेल – How to use aloe vera gel for under eye dark circles in Hindi

पहला आप डार्क सर्कल्स को हटाने के लिए एलोवेरा का इस्तेमाल कर सकते हैं। आप एलोवेरा को दिन में एक दो बार अपनी आंखों के नीचे लगाकर 5 मिनट के लिए छोड़ दें और फिर एक पटेटो ले और उसका जूस निकाले और उसे कॉटन की मदद से अपनी आंखों के नीचे लगाएं और आधे घंटे के लिए ऐसे ही लगा छोड़ दें। यह आपकी डार्क सर्कल्स रिमूव करने में काफी हेल्प करेगा।

 

डार्क सर्कल के लिए हरीताकी – Inknut for dark circles in Hindi

अगर इस होम रेमेडी से भी आपके डार्क सर्कल्स नहीं जाते हैं तो एक दूसरी होम रेमेडी हैं, जो कि सबसे ज्यादा इफेक्टिव हैं इससे तो पक्का आपके डार्क सर्कल्स गायब हो जायेगे शायद आपने बहुत सारी होम रेमेडी ट्राई करी होंगी। लेकिन इसे करने के बाद तो आप हेरान ही हो जाओगे।

और इसे करना बहुत ही आसन हैं क्योंकि इसके लिए चाहिए आपको सिर्फ एक इनग्रेडिएंट जिसका नाम हैं Inknut यानि Haritaki इसे और भी कई सारे नामों से जाना जाता हैं।

 

ये आपकी रसोई में शायद न हो लेकिन ये आपको किसी भी पंसारी की दूकान पर बड़ी आसानी से मिल जाएगा।

हरीताकी (Inknut) डार्क सर्कल्स पर बहुत ही जबरदस्त तरीके से काम करता है, तो आइए जानते हैं कैसे यूज करना है इसे।

एक पत्थर का टुकड़ा ले और दो चार बूंद पानी कि डाले  और कुछ इस तरह इसे पत्थर पर घिसे कुछ ही देर में एक पेस्ट जैसा बनने लगेगा। अब इस पेस्ट को अपनी आँखों के आसपास के एरिया पर लगाये। अच्छी तरह से लगाने के बाद 30 मिनट के लिए ऐसे ही छोड़ दे और इसे अपना काम करने दे फिर आधे घंटे बाद इसे नार्मल पानी से धो ले आपको पहली बार में ही फर्क नज़र आ जायेगा।

 

आयुर्वेद में भी इसे मेंशन किया गया है और इसे रसायन का दर्जा दिया गया है। आंखों की डेड स्किन सेल्स को हटाकर नई स्किन लाने में मदद करता है इसके पेस्ट को मिनिमम दिन में दो बार जरूर लगाएं। इसी लगाने का बेस्ट टाइम दिन में एक बार सुबह और एक बार रात को सोने से पहले सबसे इफ्फेक्टिवे होता हैं।

वैसे तो आप इसे दिन में किसी भी वक्त अप्लाई कर सकते हैं लेकिन हां इसे रोजाना 7 दिनों तक जरूर लगाएं तभी आप पूरी तरह से अंडर आई डार्क सर्कल्स को हमेशा के लिए हटा सकते हैं।

 

दोस्तों इस होम रेमेडी का कोई भी साइड इफेक्ट नहीं है इसलिए इसे कोई भी आसानी से ट्राई कर सकता है। सबसे अच्छी बात तो यह है कि यह होम रेमेडी जितनी इफेक्टिव है उससे कहीं ज्यादा सस्ती और सिंपल हैं, तो इसे एक बार तो जरूर ट्राई करें और वापस आकर अपने रिजल्ट कमेंट सेक्शन में आकर बताना ना भूलें।

 

इसें पढ़ें – मोतियों जैसे चमकेंगे पीले दांत इस घरेलू नुस्खे से

 

Share

Leave a Comment