पतंजलि शिलाजीत के फायदे और नुकसान | Patanjali Shilajit Benefits in Hindi

पतंजलि शिलाजीत – Patanjali Shilajit in Hindi

पतंजलि एक पॉपुलर ब्रांड हैं। पतंजलि भारतीय मार्किट में बहुत ज्यादा पॉपुलर हैं। क्योंकि पतंजलि शुद्ध प्रोडक्ट्स देने का दावा करती हैं, तो शायद लोग इसीलिए पतंजलि शिलाजीत के बारे में जानना चाहते हैं।

पतंजलि शिलाजीत सेक्स पॉवर बढ़ने, शरीर की ताकत बढाने, दिमाग को तेज करने आदि के लिए यूज़ किया जाता हैं।

 

शिलाजीत क्या है What Is Shilajit in Hindi

शिलाजीत एक चिपचिपा पदार्थ है यह हल्के-भूरे से काले-भूरे रंग का होता है। जो मुख्य रूप से हिमालय की चट्टानों में पाया जाता है। इसमें तांबा, चांदी, जस्ता, लोहा और सीसा सहित 84 से अधिक खनिज शामिल हैं।

शिलाजीत एक स्वास्थ्य कायाकल्प है, जो यौन सहनशक्ति में सुधार करता है और ऊर्जा के स्तर में बढ़ावा देता है। यह मधुमेह के कारण पुरानी थकान, थकान, सुस्ती और थकान को दूर करने में मदद करता है।

शिलाजीत टेस्टोस्टेरोन के स्तर में सुधार और पुरुष प्रजनन क्षमता को बढ़ाने के लिए जाना जाता है।

 

पतंजलि शिलाजीत के फायदे – Patanjali Shilajit Benefits in Hindi

पतंजलि शिलाजीत के फायदे वैसे तो बहुत सारे हैं। लेकिन पतंजलि शिलाजीत के फायदे आयुर्वेद और मोर्डेन साइंस के हिसाब से अलग हैं।

 

आयुर्वेद के अनुसार शिलाजीत के फायदे – According To Ayurveda Patanjali Shilajit Benefits in Hindi

शिलाजीत रोजाना की भाग दौड़ भरी जिन्दगी से थकान को दूर करता हैं। थकान का मतलब थकान, कमजोरी या शरीर में ऊर्जा की कमी से है।

आयुर्वेद के अनुसार, थकान को ‘कलमा’ कहा जाता है, जो कफ दोष में असंतुलन के कारण होता है। शिलाजीत अपने बल्या (शक्ति प्रदाता) और रसायन (कायाकल्प) गुणों के कारण थकान को कम करने में मदद करता है। यह कफ को संतुलित करने में भी मदद करता है और इस तरह थकान को भी कम करता है।

 

आधुनिक विज्ञान के अनुसार शिलाजीत के फायदे – According To Modern Science Patanjali Shilajit Benefits in Hindi

थकान तब होती है जब आपके शरीर की कोशिकाएं पर्याप्त ऊर्जा का उत्पादन नहीं करती हैं। शिलाजीत का उपयोग शारीरिक प्रदर्शन को बढ़ाने और थकान को दूर करने के लिए किया जाता है। यह फुल्विक और ह्यूमिक एसिड की उपस्थिति के कारण होता है। जो कोशिकाओं में मौजूद माइटोकॉन्ड्रिया को ऊर्जा उत्पन्न करने में मदद करता है।

 

शिलाजीत कैप्सूल के फायदे – Patanjali Shilajit Capsule Benefits In Hindi

पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल की पैकिंग में भी बेचा जाता है। शिलाजीत कैप्सूल के फायदे भी लगभग सेम ही फायदे हैं।

  • पुरुष प्रजनन क्षमता और टेस्टोस्टेरोन लेवल को बढ़ाता है।
  • अल्जाइमर रोग को ठीक करता है।
  • अत्यधिक थकान को कम करता है।
  • महिलाओं के स्वास्थ्य को ठीक करता है।
  • उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को रोकता है।
  • एंटीऑक्सीडेंट शक्ति बढ़ाता है।

 

शिलाजीत के नुकसान – Shilajit Side Effects In Hindi

हालांकि यह एक प्राकृतिक जड़ी बूटी हैं। जो सुरक्षित है, लेकिन आपको कच्चे या असंसाधित शिलाजीत का सेवन नहीं करना चाहिए। कच्चे शिलाजीत में भारी धातु आयन, मुक्त कण, कवक और अन्य संदूषण हो सकते हैं जो आपको बीमार कर सकते हैं।

चाहे आप ऑनलाइन खरीदें या फिर किसी दूकान से, शिलाजीत खरीदने से पहले सुनिश्चित करें, कि शिलाजीत शुद्ध है और उपयोग के लिए तैयार है।

यदि आपको सिकल सेल एनीमिया, हेमोक्रोमैटोसिस (आपके रक्त में बहुत अधिक आयरन), या थैलेसीमिया है, तो शिलाजीत का सेवन ना करें। वरना शरीर में एलर्जी होना संभव है। यदि आपको शरीर पर दाने या पिम्पल्स, हृदय गति में वृद्धि या चक्कर आना जैसे समस्याये होती हैं, तो शिलाजीत लेना बंद कर दें।

 

पतंजलि शिलाजीत के नुकसान – Patanjali Shilajit Side Effects In Hindi

पतंजलि शिलाजीत के नुकसान के भी लगभग सेम से ही साइड इफ़ेक्ट हैं। पतंजलि शिलाजीत खाने से आपको ये सभी समस्याए हो सकती हैं।

इससे शरीर का तापमान बढ़ जाता है। यानी शरीर में गर्मी बढ़ जाती है। इसके अधिक सेवन से हाथ, पैर और पेट में भारीपन महसूस होने लगता है। तापमान संतुलित नहीं रहने से मूड खराब होता है और सिर दर्द जैसी समस्या भी होने लगती है।

 

पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल के नुकसान – Patanjali Shilajit Capsule Side Effects In Hindi

पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल के नुकसान में शामिल हैं। जिन्हें खाने से आपको यह सभी साइड इफ़ेक्ट हो सकते हैं।

  • खट्टी डकार का आना।
  • अम्ल प्रतिवाह।
  • जलन का अहसास होना।
  • घबराहट होना।
  • कम रक्त दबाव।
  • उल्टी या जी मिचलाना।
  • सिरदर्द या शरीर में दर्द होना।
  • पेशाब में जलन होना आदि।

 

पतंजलि शिलाजीत की खुराक – Dosage of Patanjali Shilajit in Hindi

पतंजलि शिलाजीत पाउडर – 2-4 चुटकी दिन में एक बार या चिकित्सक के निर्देशानुसार।

पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल – 1 कैप्सूल दिन में दो बार या चिकित्सक के निर्देशानुसार।

शिलाजीत टैबलेट पतंजलि – 1 गोली दिन में दो बार या चिकित्सक द्वारा निर्देशित।

एक किशोर व्यक्ति को दिन में शिलाजीत को एक से दो बार खाना खाने के बाद लेने चाहिए। या फिर रात को सोते समय गुनगुने दूध के साथ लेने चाहिए पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल की खुराक लिंग, वजन, साइज़, आकर व लम्बाई सभी पर निर्भर करती हैं।

इसे पढ़ें – भूख बढ़ाने की आयुर्वेदिक दवा पतंजलि

 

निष्कर्ष – The Conclusion

शिलाजीत एक प्राकृतिक व सुरक्षित जड़ी-बूटी होती है। जिसका कोई भी साइड इफेक्ट नहीं है। लेकिन अगर आपको शुद्ध शिलाजीत की पहचान नहीं हैं, तो आप बेकार या नकली शिलाजीत ले सकते हैं जिससे आपको काफी साइड इफेक्ट देखने को मिल सकते हैं।

पतंजलि कंपनी का शिलाजीत अच्छा है आप इसे ले सकते हैं। आशा करता हूं इस पोस्ट के द्वारा आपको पतंजलि शिलाजीत के फायदे और नुकसान की संपूर्ण जानकारी मिली होगी।

लेकिन हाँ, पतंजलि शिलाजीत को लेने से पहले एक बार अपने डॉक्टर से जरूर सलाह करें।

Share

1 thought on “पतंजलि शिलाजीत के फायदे और नुकसान | Patanjali Shilajit Benefits in Hindi”

Leave a Comment