5 सबसे बेस्ट च्यवनप्राश | Best Chyawanprash kaun sa Hai

Page Contents

बेस्ट च्यवनप्राश कौन सा है – Best Chyawanprash in India Hindi

अगर आप च्यवनप्राश खरीदने की सोच रहे हैं और नहीं जानते की सबसे बेस्ट च्यवनप्राश कौन सा हैं, तो आज मैं आपके साथ शेयर करूँगा, भारत के 5 सबसे बेस्ट च्यवनप्राश।

जिन्हें बनाया गया हैं सिर्फ आयुर्वेदिक इनग्रेडिएंट से यानि इनमे किसी भी तरह के हार्मफुल केमिकल्स और प्रिजर्वेटिव्स नहीं डाले गए हैं, तो सबसे अच्छा च्यवनप्राश कौन सा है जाने के लिए लेख को पूरा पढ़ें।

 

सबसे बढ़िया च्यवनप्राश कौन सा है – sabse best chyawanprash kaun sa hai

दोस्तों भारतीय घरो में च्यवनप्राश का खूब इस्तेमाल किया जाता हैं। च्यवनप्राश एक आयुर्वेदिक रेसिपी है जिसे बनाने के लिए आयुर्वेद में लगभग 80 जड़ी बूटियों को मेंशन किया गया है। लेकिन इसका सबसे मैन इनग्रेडिएंट है आंवला।

आज भारतीय सुपर मार्किट में बहुत सारे च्यवनप्राश देखने को मिलते हैं। लेकिन इसमें से ज्यादातर च्यवनप्राश खाने लायक नहीं हैं।

मैंने च्यवनप्राश को 3 कैटेगरी में बाटा हैं पहली कैटेगरी में मैंने रखा हैं  जिसमे शामिल हैं। –

  • डाबर च्यवनप्राश
  • पतंजलि च्यवनप्राश
  • हिमालया च्यवनप्राश
  • वैद्यनाथ च्यवनप्राश
  • हमदर्द च्यवनप्राश
  • जीवा च्यवनप्राश
  • श्री श्री रवी शंकर च्यवनप्राश
  • झंडू केसरी च्यवनप्राश
  • हिमानी सोना चांदी च्यवनप्राश

ये सभी च्यवनप्राश भारतीय मार्किट में सबसे ज्यादा खरीदे जाते हैं। लेकिन आप हैरान रह जाओगे यह जानकर कि इनमे ही सबसे ज्यादा हार्मफुल केमिकल्स, प्रिजर्वेटिव्स और आर्टिफीसियल फ्लेवर डाले गए।

 

एक अच्छा च्यवनप्राश कैसे चुने – How to select a best chyawanprash

अगर आप सबसे ज्यादा खरीदे जाने वाले डाबर च्यवनप्राश के इनग्रेडिएंट देखोंगे, तो आपको सबसे निचे आकर एक इनग्रेडिएंट मिलेगा सोडियम बेंजोएट  यह एक प्रिजर्वेटिव्स हैं। जो प्रोडक्ट की सेल्फ लोफे बढ़ने के लिए डाला गया हैं।

लेकिन अगर आप एक आयुर्वेदिक प्रोडक्ट बना रहे हैं तो आपको यह तो पता ही होंगा। कि आयुर्वेद कभी भी इस तरह के चेमिकाल्स को बढ़ावा नहीं देता हैं। क्योंकि प्रोडक्ट की सेल्फ लाइफ बढ़ने के लिए डाले गए प्रिजर्वेटिव्स हानिकारक होते हैं। इनसे आपको कई तरह के साइड इफ़ेक्ट जैसे – सिरदर्द, घबराहट या बेचैनी, स्किन एलर्जी इफेक्ट आपको को कैंसर और कई सारी हार्ट डिसीसिस का खतरा भी हो सकता हैं।

और इतना ही नहीं अगर आप इसकी न्यूट्रिशन इनफॉरमेशन देखे तो इसमें चीनी मी मात्रा काफी ज्यादा हैं। इसकी एक सर्विंग 15 ग्राम की हैं यानि एक चम्मच और जिससे आपको मिलती हैं 10 ग्राम सुगर। चौक गए ना देखा जाये तो इसमें आधे से ज्यादा सुगर अगर हम इसे च्यवनप्राश वजाय सुगरप्राश कहें तो कुछ गलत नहीं होगा।

डाबर च्यवनप्राश ही नहीं इस कैटेगरी में आने वाले सभी च्यवनप्राश में केमिकल्स, प्रिजर्वेटिव्स और आर्टिफीसियल फ्लेवर डाले गए और हद से ज्यादा सुगर इस्तेमाल किया गया हैं।

 

सबसे बेस्ट च्यवनप्राश कौन सा है – Sabse best chyawanprash konsa hai

अब बात करते हैं कैटेगरी नंबर 2 की इसमें मैंने रखा हैं जिसमे शामिल हैं। –

  • Organic India Chyawanprash
  • Cureveda Chyawanprash
  • Kapiva Chyawanprash
  • Pure & Sure Chyawanprash
  • Vanalaya Chyawanprash etc.

यह सभी खुद को 100% आयुर्वेदिक बताते हैं और दवा करते हैं कि इसमें किसी भी तरह के केमिकल्स, प्रिजर्वेटिव्स और आर्टिफीसियल फ्लेवर का इस्तेमाल नहीं किया गया हैं।

जबकि ऐसा नहीं हैं बल्कि ये सभी ब्रांड्स बताने से डरते हैं कि इन्होने किस केमिकल्स, प्रिजर्वेटिव्स और आर्टिफीसियल फ्लेवर का इस्तेमाल किया हैं।

ये प्रोडक्ट्स अपने इनग्रेडिएंट बेस में सभी हार्मफुल केमिकल को छुपा लेते हैं। जिससे एक आम ग्राहक को पता नहीं चल पाता इन्होने इनग्रेडिएंट बेस में क्या-क्या डाला हैं।

ऐसे प्रोडक्ट्स को मैं कभी रिकमेंड नहीं करूँगा, जो अपने प्रोडक्ट्स में डाले गए सभी इनग्रेडिएंट को मेंशन करने से डरते हो। हाँ इतना जरुर हैं इन्होने अपने च्यवनप्राश में काफी कम मात्रा में सुगर की वजाय गुड या मिश्री का इस्तेमाल किया हैं जोकि एक अच्छी बात हैं।

देखा जाये तो यह सभी च्यवनप्राश कैटेगरी नंबर 1 से थोड़े अच्छें जरुर हैं। लेकिन अगर आप इन्हें ना ही ले तो ही बहेतर हैं। लेकिन बात आती हैं क्या भारतीय मार्किट में इनसे भी बेस्ट कोई च्यवनप्राश मौजूद हैं, तो इसका जबाब हैं जी हाँ।

 

5 सबसे अच्छा च्यवनप्राश कौन सा है – Sabse accha chyawanprash kaun sa hai

कैटेगरी नंबर 3 में मैंने 2 ऐसे ही च्यवनप्राश को रखा हैं। जो 100% आयुर्वेदिक और नेचुरल हैं इनमे किसी भी तरह के केमिकल्स, प्रिजर्वेटिव्स और आर्टिफीसियल फ्लेवर का इस्तेमाल किया हैं। इस कैटेगरी में नंबर 1 शामिल हैं।

 

1. Axiom Royal आयुर्वेदिक च्यवनप्राश – Axiom Royal Ayurvedic Chyawanprash

देसी गाय के घी, कश्मीरी केसर और आर्गेनिक शहद के अलावा एक च्यवनप्रास में डाले जाने वाली सभी आयुर्वेदिक औषिदियों का इस्तेमाल किया गया हैं।  स्वाद को बढ़ने के लिए इसमें किसी भी तरह के फ्लेवर और सुगर का इस्तेमाल नहीं किया गया हैं। इसका बिलकुल ओरिजिनल टेस्ट हैं।

 

2. कृष्ण गोपाल आयुर्वेद भवन कलेरा सुवर्णा केशर युक्ता च्यवनप्राश – Krishna Gopal Ayurved bhawan Kalera Suvarna Keshar Yukta Chyawanprash

इस च्यवनप्राश में 60 से अधिक शुद्ध आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों का इस्तेमाल किया गया हैं, इस च्यवनप्रास में प्राक्रतिक सोना डाला गया हैं।

इस च्यवनप्रास में भी किसी भी तरह के प्रिजर्वेटिव्स और आर्टिफीसियल फ्लेवर नहीं डाले गए हैं। इसे 100% आयुर्वेदिक औषधियों से बनाया गया हैं और इसका टेस्ट भी बिलकुल ओरिजिनल है।

 

3. वेदा प्राश प्रीमियम जैगरी च्यवनप्राश – Veda Prash Premium Jaggery Chyawanprash

इस च्यवनप्राश को ताजे आंवले के साथ 40+ आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों और मसालों के साथ इसे एक शक्तिशाली स्वास्थ्य टॉनिक बनाता है। इस उत्पाद में किसी भी कोल्ड स्टोरेज आंवला के गूदे का उपयोग नहीं किया गया है।
इसमें कोई अतिरिक्त चीनी (कृत्रिम चीनी) नहीं है। गुड़ और शहद के साथ स्वाभाविक रूप से मीठा जो पाचन स्वास्थ्य में एक महान प्रीबायोटिक सहायता है।
बादाम, केसर, इलायची और किशमिश से भरपूर यह एक संपूर्ण स्वास्थ्य टॉनिक है जिसका सेवन दिन में किसी भी समय किया जा सकता है।
यह शुद्ध देसी गाय के घी से बनाया गया जीएमपी, आईएसओ प्रमाणित फॉर्मूला हैं।

 

4. वैद्यरत्नम च्यवनप्राशम – Vaidyaratnam Chyawanprasham

महर्षि बद्री शक्ति रसायन एक आदर्श आयुर्वेदिक उपाय है जो शक्ति, जीवन शक्ति और सहनशक्ति को बढ़ाता है। यह शरीर में रक्त कोशिकाओं को बढ़ाने में भी मदद करता है।

 

5. हेथा ऑर्गेनिक्स च्यवनप्राश – Hetha Organics Chyawanprash

इस च्यवनप्राश में सफेद चीनी नहीं डाली जाती है। प्राचीन आयुर्वेदिक ग्रंथों के अनुसार सफेद प्रसंस्कृत चीनी के स्थान पर हिमालयन जंगली वन शहद और धागा मिश्री मिलाई जाती है।
हेथा के च्यवनप्राश में इस्तेमाल किया जाने वाला बिलोना घी उत्तराखंड में पाई जाने वाली देशी बद्री गायों के A2 दूध से बनाया जाता है। ये बद्री गाय ताजा हिमालयी जड़ी-बूटियों और पहाड़ के पानी पर चरती हैं। गाय जो कुछ भी खाती है, उसके दूध और घी में चली जाती है
कार्बनिक अमला, शिलाजीत, केसर, शतावरी, अश्वगंधा, सफेद चंदन उन 55 सामग्रियों में से हैं जो इस च्यवनप्राश को बनाने में उपयोग की जाती हैं।
शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत रखने के लिए इस च्यवनप्राश का सेवन पूरे साल किया जा सकता है।
100% प्राकृतिक और पारंपरिक तरीके से हस्तनिर्मित। कोई संरक्षक नहीं जोड़ा गया।

 

कौन सा च्यवनप्राश सबसे अच्छा है – Kaun sa chyawanprash best hai

अगर आप च्यवनप्रास लेने की सोच रहे हैं तो मैं रिमांड करूँगा। आप हमेशा एक ऐसा च्यवनप्रास खरीदें जिसमे किसी भी तरह च्यवनप्रास केमिकल प्रिजर्वेटिव्स और आर्टिफीसियल फ्लेवर का इस्तेमाल नहीं किया गया हो।

च्यवनप्राश एक आयुर्वेदिक रेसिपी है और आयुर्वेद कभी भी केमिकल प्रिजर्वेटिव्स और आर्टिफीसियल फ्लेवर को बढ़ावा नहीं देता हैं।

काफी रिसर्च करने के बाद मैंने इन दोनों च्यवनप्राश को चुनना हैं और इनसे बहेतर मुझे कोई और नहीं देखा।

 

च्यवनप्राश का इतिहास – History of chyawanprash in Hindi

“च्यवनप्राश” शब्द च्यवन ऋषि के नाम से लिया गया है। वह इस टॉनिक को तैयार करने वाले पहले व्यक्ति थे। कहानी यह है कि ऋषि काफी बूढ़े थे और उन्होंने इस हर्बल टॉनिक के उपयोग से अपनी युवावस्था और जीवन शक्ति वापस पा ली थी।

चरक संहिता, चौथी शताब्दी ईसा पूर्व में चरक द्वारा लिखी गई एक प्राचीन आयुर्वेदिक पुस्तक में इस हर्बल तैयारी का सूत्र शामिल है। यह दावा करता है कि च्यवनप्राश मानव जाति के लिए उपलब्ध सभी हर्बल टॉनिकों में सबसे अच्छा और सबसे प्रभावी है।

इसे पढ़ें – सबसे शुद्ध देसी घी कौन सा है ?

 

निष्कर्ष – The Conclusion

च्यवनप्राश एक सुरक्षित हर्बल टॉनिक है और सभी उम्र के लोग इसे स्वास्थ्य, भलाई और दीर्घायु को बढ़ावा देने के लिए ले सकते हैं। तीन साल से कम उम्र के बच्चे इसे ले सकते हैं। हालांकि, छोटे बच्चों के लिए खुराक थोड़ी कम करें।

Share

Leave a Comment