खून बढ़ाने के लिए 5 सबसे बेहतरीन आयुर्वेदिक दवा व सिरप

खून बढ़ाने के लिए 5 बेहतरीन सिरप – Khoon Badhane Ki Syrup in Hindi

शरीर दौड़ रहा हैं क्योंकि आपके शरीर में खून दौड़ रहा हैं यदि आपके शरीर में खून की कमी आ जाये, तो आपका शरीर फाफी सारी बिमारियों का शिकार हो सकता हैं। खून की कमी के कारण सबसे पहले शरीर कमजोर होने लगता हैं। शरीर सुस्त पड़ जाता हैं स्किन पिली होने लगती हैं। आँखों में गड्ढे हो जाते हैं और हड्डियाँ कमजोर हो जाती हैं।

हालाँकि खून की कमी पहले ज्यादातर महिलाओं में देखी जाती थी। लेकिन आज कल यह प्रॉब्लम किसी भी उम्र में महिला, पुरुष व बच्चों सभी में देखी जा सकती हैं। इसका सबसे मुख्य कारण हैं हमारा खान पान आज हम जिस तरह का खाना खाते हैं। उसमे सिर्फ हम स्वाद देखते हैं पोषक तत्वों की तरफ हमारा ध्यान ही नहीं जाता हैं। हमें एक स्वादिष्ट भोजन के साथ पोषक तत्वों का भी ध्यान रखना चाहिए।

शरीर में खून की कमी का मतलब हैं। खून में हिमोग्लोबिन की कमी दरअसल हिमोग्लोबिन खून के सेल्स में मौजूद आयरन युक्त प्रोटीन हैं। खून की कमी को पूरा करने के लिए डॉक्टर खाने पर ध्यान देने के अलावा खून बढ़ने की सिरप भी देते हैं। यहाँ हमने डॉक्टर द्वारा हमेशा दी जाने वाली खून बढ़ने की सिरप को लिया हैं यह सभी खून बढ़ने की सिरप सबसे बेस्ट हैं।

 

खून बढ़ने की सिरप  – Khoon Badhane Ki Syrup in Hindi

यहाँ हमने खून बढ़ने की 5 सबसे असरदार सिरप को लिया हैं। खून बढ़ने की यह सिरप सबसे ज्यादा पोपुलर हैं। लेकिन इन्हें लेने से पहले आपको इसके बारे में सही से जान लेना चाहिए, तो आइये जानते हैं 5 सबसे असरदार खून बढ़ने की सिरप कौन सी हैं।

 

डेक्सोरेंज खून बढ़ने की सिरप – Khoon Badhane Ka Syrup Dexorange in Hindi

खून बढ़ने की इस सिरप का उपयोग आयरन की कमी से होने वाले एनीमिया के इलाज के लिए किया जाता है। यह खून में हिमोग्लोबिन की मात्रा को बढाकर खून की कमी को पूरा करता हैं यह शरीर में आयरन की कमी को पूरा करता हैं। साथ ही यह गर्भावस्था और स्तनपान के दौरान खून की कमी को पूरा करता हैं।

डेक्सोरेंज सिरप आमतौर पर विटामिन बी 12 और फोलिक एसिड की कमी के कारण होने वाले एनीमिया के इलाज के लिए लिया जाता है। एनीमिया मतलब जब खून में लाल रक्त कोशिकाओं की संख्या में कमी आ जाती है, यह पूरे शरीर में ऑक्सीजन ले जाने का काम करती हैं।

इसमें आयरन (फेरिक अमोनियम साइट्रेट के रूप में), सायनोकोबालामिन (विटामिन बी12 के रूप में), और फोलिक एसिड (विटामिन बी9 के रूप में) होता है। एनीमिया के उपचार के अलावा, इस सिरप का उपयोग आयरन, विटामिन बी 12 और फोलिक एसिड की कमी के उपचार के रूप में किया जाता है।

इसका उपयोग भूख की कमी, सामान्य कमजोरी (थकान) और सर्जरी के बाद आयरन के स्तर को सामान्य बनाने के लिए भी किया जाता है।

इस सिरप आमतौर पर बहुत कम दुष्प्रभाव देखने को मिलते हैं यह खून बढ़ने के लिए एक सुरक्षित सिरप है। यदि आप खून बढ़ने के लिए कोई अन्य दवाएं या आहार की खुराक ले रहे हैं, तो इस दवा को लेने से पहले डॉक्टर से संपर्क करना सही होगा।

खुराक – वयस्कों के लिए: शरीर में खून की कमी को पूरा करने के लिए इस सिरप का एक बड़ा चम्मच दिन में दो बार लेने की सलाह दी जाती है। इस सिरप से अधिकतम लाभ प्राप्त करने के लिए आपको भोजन के बाद इस सिरप का सेवन करना चाहिए।

बच्चों के लिए: बच्चों के लिए भी इस सिरप को उपयोग करने की सलाह दी जाती हैं। लेकिन बच्चों के लिए इसकी खुराक स्थिति के प्रकार और गंभीरता पर निर्भर करती है।

 khoon badhane ka syrup

हेपेटोग्लोबिन खून बढ़ने की सिरप – Hepatoglobine Khoon Badhane ki Syrup in Hindi

हेपेटोग्लोबिन सिरप में आयरन, फोलिक एसिड और मिथाइलकोबालामिन होता है। आयरन पूरे शरीर में ऑक्सीजन पहुंचाता है और लाल रक्त कोशिकाओं को बनाए रखता है, जिससे व्यक्ति ऊर्जावान महसूस करता है यह शरीर में खून की कमी को पूरा करता है।

फोलिक एसिड न्यूक्लियोटाइड बायोसिंथेसिस से लेकर होमोसिस्टीन के रीमेथिलेशन तक कई शारीरिक कार्यों के लिए आवश्यक है। यह तेजी से कोशिका विभाजन और वृद्धि की अवधि के दौरान विशेष रूप से महत्वपूर्ण है। बच्चों और वयस्कों दोनों को स्वस्थ लाल रक्त कोशिकाओं का उत्पादन करने और खून की कमी को पूरा करने के लिए फोलिक एसिड की आवश्यकता होती है।

मिथाइलकोबालामिन रक्त कोशिकाओं की दीक्षा और परिपक्वता को बढ़ावा देता है। हेपेटोग्लोबिन सिरप उपयोग शरीर में खून की कमी को पूरा करने के लिए किया जाता है। लंबे समय तक भोजन में आयरन की कमी के कारण शरीर में खून की कमी आ सकती हैं।

आयरन की कमी से होने वाला एनीमिया अधिकतर गर्भावस्था महिलओं और स्तनपान करने वाली महिलाओं में देखी जाती है।

खुराक – खून बढ़ने की इस हेपेटोग्लोबिन सिरप का उपयोग भोजन के बाद पानी के साथ मौखिक रूप से लिया जा सकता है। वयस्कों के लिए एक बड़ा चम्मच लेने की सलाह दी जाती हैं।

khoon badhane ki dawa ayurvedic

Orofer XT है खून बढ़ाने के लिए सिरप – Orofer XT Khoon Badhane Ke Liye Syrup in Hindi

Orofer XT सस्पेंशन में विटामिन B9 (फोलिक एसिड), विटामिन B12 और आयरन होता है, जो खून की कमी को पूरा करने के लिए महत्वपूर्ण घटक हैं। Orofer XT सस्पेंशन शरीर में आयरन की कमी में सुधार करता है और शरीर में आयरन और फोलिक एसिड के स्तर को बहेतर बनाए रखता है।

Orofer Xt Plus Orange Cool Susp 200ml मुख्य रूप से आयरन की कमी से होने वाली खून की कमी, विटामिन बी की कमी और शरीर की कमजोरी को दूर करने के लिए किया जाता हैं। ये कमियां मुख्य रूप से बीमारी, गर्भावस्था, खराब पोषण, पाचन विकार और कई अन्य स्थितियों के कारण होती हैं। इस दवा का सेवन करने से पहले बोतल को अच्छी तरह से हिलाएं।

खुराक – अपने डॉक्टर की सलाह के अनुसार ओरोफर एक्सटी सस्पेंशन लें। उपयोग करने से पहले बोतल को अच्छी तरह हिलाएं। अधिमानतः इसकी खुराक एक एक बड़ा चम्मच होती हैं। इसे भोजन से एक घंटे पहले लें, इस सिरप के साथ चाय या कॉफी ना लें

orofer xt blood puriying syrup in hindi

 

टोनोफेरॉन हैं खून बढ़ने की सिरप – Tonoferon Khoon Badhane ki Syrup in Hindi

टोनोफेरॉन सिरप 200 एमएल ‘हेमैटिनिक्स’ नामक दवाओं के एक वर्ग से संबंधित है जिसका उपयोग मुख्य रूप से एनीमिया (आयरन और हीमोग्लोबिन की कमी) के इलाज के लिए किया जाता है। शरीर मर यह कमी मुख्य रूप से खराब आहार,  ख़राब पाचन तंत्र या फिर महिलओं में गर्भावस्था के दौरान हो सकती हैं।

खून की कमी (एनीमिया) एक ऐसी स्थिति है जिसमें शरीर के विभिन्न ऊतकों को आवश्यक पर्याप्त ऑक्सीजन ले जाने के लिए शरीर में पर्याप्त लाल रक्त कोशिकाएं नहीं होती हैं।

टोनोफेरॉन सिरप 200 मिली आयरन, फोलिक एसिड (हेमेटिनिक्स कॉम्बिनेशन) और सायनोकोबालामिन युक्त एक संयोजन दवा है। जिसका उपयोग मुख्य रूप से एनीमिया के इलाज यानि खून की कमी के लिए किया जाता है। आयरन शरीर में एक महत्वपूर्ण खनिज है जो लाल रक्त कोशिकाओं द्वारा शरीर की अन्य कोशिकाओं और ऊतकों तक ऑक्सीजन ले जाने के लिए आवश्यक होता है।

खुराक – टोनोफेरॉन सिरप एक बहुत ही अच्छी दवा हैं। लेकिन इसका सेवन आप डॉक्टर की रेख-देख में करें टोनोफेरॉन सिरप 200 एमएल अगर 12 साल से कम उम्र के बच्चे को दिया जाता है, तो उसे सख्त चिकित्सकीय देखरेख में दिया जाना चाहिए।

khoon badhane ki dawa ayurvedic

चेरी सिरप है खून बढ़ने की सिरप – Cheri Syrup Khoon Badhane Ke Liye Syrup in Hindi

चेरी सिरप पोषण सप्लीमेंट है जिसमें एलिमेंटल आयरन, विटामिन बी 12 (साइनोकोबालामिन) और फोलिक एसिड होता है।

एलिमेंटल आयरन का स्रोत है, आयरन पूरे शरीर में ऑक्सीजन को लाने ले जाने का काम करता हैं और लाल रक्त कोशिकाओं को बनाए रखता है, जिससे व्यक्ति ऊर्जावान महसूस करता है और एनीमिया यानि खून की कमी को रोकता है।

फोलिक एसिड न्यूक्लियोटाइड बायोसिंथेसिस से लेकर होमोसिस्टीन के रीमेथिलेशन तक कई शारीरिक कार्यों के लिए जरुरी हैं। विटामिन बी 12, एक पानी में घुलनशील विटामिन, मेकोबालामिन भी कई महत्वपूर्ण मेटाबॉलिज्म मार्गों में फोलिक एसिड के साथ निकटता से जुड़ा हुआ है। इसकी कमी से मेगालोब्लास्टिक रक्ताल्पता का विकास होता है।

इसका उपयोग कमजोरी, कमजोरी के कारण खून की कमी का आना, गर्भावस्था के दौरान पोषण की कमी से होने वाला एनीमिया, सामान्य कमज़ोरी, आयरन की कमी से होने वाला एनीमिया आदि में किया जाता हैं।

खुराक – इस सिरप का एक बड़ा चम्मच भोजन के बाद चेरी सिरप पानी के साथ मौखिक रूप से लिया जा सकता है। इसका उपयोग आप चिकित्सकीय देख-रेख में करें।

khoon badhane ki ayurvedic syrup

 

इसे पढ़ेंखून साफ करने की आयुर्वेदिक दवा

इसे पढ़ेंभूख बढ़ाने की आयुर्वेदिक दवा पतंजलि

 

निष्कर्ष – The Conclusion

यहाँ पर बताई गयी सभी खून बढ़ने की सिरप एनीमिया की रोकथाम यानि खून की कमी को पूरा करने के लिए सबसे असरदार सिरप हैं। यह सभी सिरप सुरक्षित हैं इनका कोई खास साइड इफ़ेक्ट नहीं हैं। यानि ना के बराबर यह आपको नुकसान पहुंचती हैं। बहेतर होगा यदि आप इन सभी सिरप को चिकित्सक की रेख-देख में करें।

Share