मोटा होने की आयुर्वेदिक दवा | Mota Hone Ki Ayurvedic Dawa in Hindi

Page Contents

मोटा होने की आयुर्वेदिक दवा  – Mota hone ki ayurvedic dawa in Hindi

बहुत से लोग मोटा होना चाहते हैं आज मैं आपसे एक सवाल पूछना चाहता हूँ क्या मोटा होना अच्छा हैं मैं आपको एक बात बता दूँ जिन लोगो का वजन ज्यादा रहता हैं यानि जो लोग अधिक मोटे हैं उन लोगो में कई सारी हेल्थ प्रोब्लेम्स होते हैं जैसे – हाई ब्लड प्रेशर, हाई कैस्ट्रोल, डायबिटीज, हार्ट डिजीज, बॉडी पेन, आर्थराइटिस और भी कई तरह की बीमारियां हो सकती है।

तो आज से मोटे होने की नहीं बल्कि हेल्दी बनाने की सोचिए और जो लोग काफी पतले दुबले हैं वह कितनी भी हेल्थ सप्लीमेंट खा ले लेकिन बिना अच्छी डाइट के वे अपना वजन नहीं बढ़ा सकते है इसलिए सबसे पहले आप अपनी डाइट को अच्छा बनाएं।

बहुत से लोगो को भूख न लगने की समस्या होती हैं और वे ज्यादा खाना नहीं खा पाते हैं। जिससे वह कमजोर व दुबले पतले ही रहते हैं इसलिए ऐसे लोगो को भूख बढ़ने आयुर्वेदिक दवा व सिरप की जरुँत पड़ती हैं आज हम जानेगे 5 मोटा होने की आयुर्वेदिक दवा जो बिना किसी नुकसान के आपका वजन बढ़ने में मदद करती हैं।

 

मोटा होने की दवा आयुर्वेदिक – Mota hone ki ayurvedic dawa in Hindi

मार्किट में मोटे होने की आयुर्वेदिक दवा काफी सारी मौजूद हैं। लेकिन ज्यादातर दवाओं के हानिकारक साइड इफ़ेक्ट देखने को मिलते हैं मगर यहाँ बताई गयी सारी दावा आयुर्वेदिक हैं जो जल्दी वजन बढ़ने में मदद करती हैं। (mota hone ki ayurvedic dawa in hindi)

 

अश्वगंधा हैं मोटा होने की दवा – Ashwagandha mote hone ki ayurvedic dawa

मोटा होने के लिए अश्वगंधा का चूर्ण काफी कारगर होता है। इसके कई स्वस्थ और पोषण संबंधी लाभ हैं, इसे अगर उच्च कैलोरी आहार के साथ लिया जाए तो यह शरीर के वजन को बढ़ाने में बहुत फायदेमंद साबित होता है। इसे भारत में एक प्रकार की औषधि माना जाता है, जो अपने चमत्कारी गुणों के कारण भारतीय जिनसेंग के नाम से भी जानी जाती है।

अगर कोई व्यक्ति अपना वजन बढ़ाना चाहता है तो इसे रोजाना सुबह-शाम एक गिलास दूध के साथ लेना चाहिए। आपको 1 महीने में काफी फर्क दिखना शुरू हो जाएगा। अश्वगंधा पाउडर को आप किसी भी मेडिकल स्टोर से बड़ी आसानी से खरीद सकते हैं।

 

शतावरी मोटा होने की दवा का नाम – Shatavari mota hone ki dawa ka name

शतावरी एक ऐसी आयुर्वेदिक औषधि है, जो वजन बढ़ने के लिए जनि जाती हैं और विशेष रूप से गर्भवती महिलाओं को वजन बढ़ाने के लिए दी जाती है। साथ ही ये डिहाइड्रेशन की कमी को भी पूरा करते हैं। इसके अलावा इसका सेवन पाचन तंत्र के लिए भी बहुत अच्छा होता है। यह मानव शरीर के पाचन तंत्र को स्वस्थ बनाता है। हिमालय हर्बल्स भारत में शतावरी का सबसे बड़ा निर्माता है। शतावरी एक मोटे होने की दवा हैं।

 

 

मुलेठी मोटा होने की देसी दवा – Mulathi mote hone ki desi dawa

मुलेठी को मोटा होने की देसी दवा के नाम से जाना जाता हैं यह भी वजन बढ़ाने की एक बहुत ही असरदार आयुर्वेदिक दवा है। यह मानव शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करता है और शरीर को स्वस्थ बनाता है। साथ ही यह शरीर की अन्य कमजोरियों को दूर करता है।

 

मोटे होने की आयुर्वेदिक दवा हैं किरात – Gentian root mote hone ki ayurvedic dawa

किरात भी एक मोटा होने की आयुर्वेदिक औषधि है, यह खाने में कड़वी लगती है। शरीर को पूरी तरह से स्वस्थ रखने के लिए जनि जाती हैं  यह दवा वजन बढ़ाने और पेट को फिट रखने की भी कारगर दवा मानी गई है। यह पेट को साफ रखता है। भूख बढ़ाता है और अपच, गैस्ट्रिक जैसी समस्याओं से छुटकारा दिलाता है। और प्राकृतिक रूप से हमारे शरीर को मोटा बनाने में मदद करता है।

 

मोटा होने की दवा पतंजलि शिलाजीत – Mota hone ki dawa patanjali Shilajit

पतंजलि मोटा होने की दवा पतंजलि शिलाजीत ऊर्जा और शक्ति को बढ़ाने के साथ-साथ सहनशक्ति को भी बढ़ाता है। जो लोग बॉडी बिल्डिंग करके अच्छी बॉडी बनाना चाहते हैं उनके लिए यह सबसे अच्छी दवा है। यह दवा वजन बढ़ाने के साथ-साथ मर्दाना शक्ति को भी बढ़ाती है।

 

मोटे होने का पाउडर – Mota hone ka powder in Hindi

आपको बाजार में मोटे होने का पाउडर काफी सारे मिल जायेगे लेकिन काफी सारे पाउडर के हानिकारक साइड इफ़ेक्ट देखने को मिल सकते हैं। इसलिए यहाँ आपको सिर्फ मोटे होने के आयुर्वेदिक पाउडर मिलेंगे जो नेचुरल तरीके से वजन बढ़ाते हैं। (mota hone ki ayurvedic dawa in hindi)

 

Mushroomex Mushroom powder – Mota hone ka powder

Mushroomex Mushroom powder 100 ग्राम अब तक लाखों लोगों द्वारा उपयोग किया जा चुका है और इस पाउडर ने हर तरह के पतलेपन का समाधान दिखाया है। जिससे लोगों के बीच इसकी लोकप्रियता काफी बढ़ गई है। मशरूम “फोलिक एसिड” से भरपूर होता है जो शरीर में खून की कमी को पूरा करता है और एनीमिया जैसी घातक बीमारियों से बचाता है। 

मशरूम में बड़ी मात्रा में थायमिन, नियालिन, बायोटिन, विटामिन के और विटामिन ई भी होता है। जो शरीर के स्वास्थ्य के लिए आवश्यक है। इसके अलावा, मशरूम फाइबर से भरपूर होते हैं, जो पाचन तंत्र के समुचित कार्य के लिए आवश्यक है। पिछले 20 वर्षों में दुनिया में मशरूम की मांग उतनी ही तेजी से बढ़ी है जितनी पिछले 300 वर्षों में नहीं बढ़ी है।

 

Namira Weight Gain Churan – Mota hone ka powder in Hindi

नमिरा वेट गेन चूर्ण – स्वस्थ शरीर के वजन को बढ़ाने में मदद करने के लिए आयुर्वेदिक दवाओं से बना एक संपूर्ण हर्बल फॉर्मूला है। वजन बढ़ाने के लिए यह आयुर्वेदिक पूरक मुख्य रूप से स्वस्थ भूख में सुधार, शरीर में पोषक तत्वों के अवशोषण को बढ़ाकर और पाचन तंत्र को संतुलित करके काम करता है। यह हार्ड गेनर्स के लिए विशेष रूप से प्रभावी है।

नमिरा चूर्ण – सबसे अच्छा आयुर्वेदिक वजन बढ़ाने वाला पाउडर – चयापचय (बीएमआर) को धीमा करने में मदद करता है और स्वस्थ भूख को बढ़ाता है, जिससे कैलोरी की अधिक खपत होती है। यह दैनिक कैलोरी की कमी को पूरा करता है और इस प्रकार एक त्वरित उच्च कैलोरी समाधान प्रदान करता है।

 

मोटे होने के कैप्सूल आयुर्वेदिक – Mota hone ke ayurvedic capsule

बाजार में आपको मोटे होने के आयुर्वेदिक कैप्सूल काफी सारे मिल जायेगे लेकिन ज्यादातर कैप्सूल काम नहीं करते हैं। अगर काम करते हैं तो उनके काफी सारे साइड इफ़ेक्ट होते हैं लेकिन यहाँ सिर्फ आपको मोटे होने के नेचुरल व आयुर्वेदिक कैप्सूल मिलेंगे जिनसे आपको सच में काफी अच्छे रिजल्ट मिलेंगे।

 

पौरुष जीवन आयुर्वेदिक कैप्सूल – Mota hone ke capsule

पौरुष जीवन कैप्सूल एक आयुर्वेदिक दवा है जिसका उपयोग मुख्य रूप से लीवर की बीमारी के इलाज के लिए किया जाता है। पौरुष जीवन कैप्सूल शरीर को स्वस्थ, ऊर्जावान, सक्रिय और फिट रखने में मदद करता है। यह जिगर और जठरांत्र संबंधी रोगों का इलाज करता है और मानसिक थकावट को कम करता है।

पौरुष जीवन कैप्सूल के माध्यमिक और ऑफ-लेबल उपयोगों का भी नीचे उल्लेख किया गया है। की प्रमुख सामग्री।

पौरुष जीवन कैप्सूल आंवला, अश्वगंधा, अर्जुन, हरीतकी (हरड़), कुर्ची हैं। जिसके गुण है।

पौरुष जीवन कैप्सूल के फायदे – paurush jiwan capsules ke fayde

  • पौरुष जीवन कैप्सूल में इस्तेमाल होने वाले आयुर्वेदिक तत्व पित्त के रस को छोड़ने में मदद करते हैं जो वसा के बेहतर पाचन में सहायता करते हैं।
  • यह ऊर्जा प्रदान करता है और अत्यधिक चर्बी जमा होने से उत्पन्न आलस्य को दूर करता है।
  • यह भोजन के पाचन के लिए एंजाइम जारी करने में मदद करता है और जठरांत्र संबंधी रोगों का इलाज करता है।
  • सामग्री पोषक तत्वों, विशेष रूप से प्रोटीन के अवशोषण में और सहायता करती है।
  • शरीर में कोशिकाओं और ऊतकों की वृद्धि और विकास में मदद करें।
  • पौरुष जीवन कैप्सूल शरीर को स्वस्थ, ऊर्जावान, सक्रिय और फिट रखने में मदद करता है।
  • यह जिगर और जठरांत्र संबंधी रोगों का इलाज करता है और मानसिक थकावट को कम करता है।

 

हेल्थ अप कैप्सूल – Vajan badhane ke capsule

हेल्थ अप कैप्सूल एक प्रीमियम आयुर्वेदिक उत्पाद है जो कम समय में वजन बढ़ाने में मदद करता है। इसमें 16 प्राकृतिक जड़ी बूटियों का संतुलित मिश्रण है और यह पूरी तरह से आयुर्वेदिक है और आयुर्वेदिक होने के कारण इसका कोई ज्ञात दुष्प्रभाव नहीं है। 

शोधकर्ता जड़ी-बूटियों के चिकित्सीय लाभों पर शोध करने, उन्हें प्रमाणित करने, उनके सक्रिय मार्करों को अलग करने और सुरक्षा प्रभावकारिता को मान्य करने में वर्षों लगाते हैं। विज्ञान पर आधारित हर्बल समाधानों के माध्यम से हर घर में कल्याण और आनंद लाना है।

 हेल्थ अप कैप्सूल के फायदे – Health up capsule khane ke fayde

  • ये कैप्सूल क्रमिक तरीके से पाचन तंत्र के कार्य को विनियमित करने में मदद करते हैं।
  • इसमें मौजूद कार्बनिक जड़ी-बूटियां एमाइलेज, लाइपेज जैसे पाचक एंजाइमों को उत्तेजित करने में उत्प्रेरक की भूमिका निभाती हैं जो पाचन प्रक्रिया को नियंत्रित करता है।
  • यह हमारे शरीर में टी-कोशिकाओं के उत्पादन को उत्तेजित करके अधिकांश संक्रमणों के जोखिम को कम करता है और इस प्रकार हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाता है।
  • यह यकृत एंजाइमों पर कार्य करता है और इस प्रकार उचित पाचन में मदद करता है जो एक साथ भूख को बढ़ाता है।
  • इन कैप्सूलों के अलावा, स्वस्थ उचित आहार लेने की सलाह दी जाती है जिसमें प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट शामिल हों।

 

एक्यूमास वेट गेन कैप्सूल – Weight badhane ke capsule

Accumass कैप्सूल में पारंपरिक रूप से उपयोग की जाने वाली बेहतरीन जड़ी-बूटियों का संतुलित सूत्रीकरण होता है जो कम वजन की स्थिति से राहत दिलाने में मदद करता है। Accumass आयुर्वेदिक वेट गेनर कैप्सूल में जड़ी-बूटियाँ होती हैं जो चयापचय की सक्रियता को स्थिर करने और शरीर में अधिक मैक्रोन्यूट्रिएंट्स लेने में मदद करती हैं, जो शरीर में बोन मास, मसल्स मास और बोन मैट्रिक्स को बढ़ाने में मदद करती है जो अंततः शरीर के वजन को बढ़ाती है।

एक्यूमास कैप्सूल के फायदे – accumass capsule ke fayde

  • चयापचय-उपचय की अति सक्रियता को कम करने में उपयोग किया जाता है जो खाद्य सामग्री से पोषक तत्वों को सक्रिय रूप से अवशोषित करने के लिए आवश्यक एक प्राकृतिक प्रक्रिया है और उस उद्देश्य के लिए उच्च स्तर की ऊर्जा की आवश्यकता होती है।
  • चयापचय दर को धीरे से कम करने और शरीर में पोषक तत्वों के अवशोषण को बढ़ाने में मदद करता है।
  • इसके अलावा, गोखरू, यस्थिमधु जैसी जड़ी-बूटियों की उपस्थिति शरीर की सहनशक्ति, ताकत और मांसपेशियों को बढ़ाने में मदद करती है।

 

हरबोबोइल्ड कैप्सूल – Mota hone ke capsule 

डॉ. वैद्य’ज हर्बोबिल्ड कैप्सूल बॉडीबिल्डर्स और फिटनेस के प्रति उत्साही लोगों के लिए विशेष रूप से तैयार किया गया आयुर्वेदिक सप्लीमेंट है जो स्वाभाविक रूप से मांसपेशियों और ताकत का निर्माण करता है। इसमें कायाकल्प करने वाली जड़ी-बूटियाँ होती हैं जिनमें शक्ति को बढ़ावा देने वाली क्रिया होती है। ये जड़ी-बूटियाँ हीमोग्लोबिन और लाल रक्त कोशिकाओं की संख्या में सुधार करने में मदद करती हैं। 

हर्बोबिल्ड अन्य रासायनिक रूप से संश्लेषित विकल्पों से जुड़े दुष्प्रभावों को जोखिम में डाले बिना आपके फिटनेस लक्ष्यों को प्राप्त करने में आपकी सहायता करता है। हर्बोबिल्ड जैसे आयुर्वेदिक सूत्र शरीर के शरीर क्रिया विज्ञान को बहाल करने और लंबे समय तक चलने वाले प्रभाव देने के लिए मांसपेशियों, पाचन तंत्र जैसे विभिन्न शरीर प्रणालियों पर काम करते हैं।

हरबोबोइल्ड कैप्सूल के फायदे – herbobuild capsule ke fayde

  • अश्वगंधा की जड़ शरीर की ताकत, मांसपेशियों के आकार में सुधार करती है और मांसपेशियों को आराम देकर जल्दी ठीक होने में भी मदद करती है।
  • शतावरी में अमीनो एसिड शतावरी होता है जो मांसपेशियों के निर्माण के लिए आवश्यक प्रोटीन संश्लेषण को बढ़ाता है।
  • सफ़ेद मुसली टेस्टोस्टेरोन के स्तर को बढ़ाकर मांसपेशियों के लाभ और मांसपेशियों की ताकत बढ़ाने में मदद करता है।
  • हर्बोबिल्ड अन्य रासायनिक रूप से संश्लेषित विकल्पों से जुड़े दुष्प्रभावों को जोखिम में डाले बिना फिटनेस लक्ष्यों को प्राप्त करने में मदद करता है।
  • हर्बोबिल्ड जैसे आयुर्वेदिक फॉर्मूलेशन शरीर के शरीर क्रिया विज्ञान को बहाल करने के लिए पेशी, पाचन तंत्र जैसे विभिन्न शरीर प्रणालियों पर काम करते हैं।

 

मोटा होने के पतंजलि कैप्सूल – Mota hone ke patanjali capsule

पतंजलि वेट गेन कैप्सूल भी काफी लोकप्रिय हैं जिनमें अश्वगंधा कैप्सूल शामिल हैं। पतंजलि अश्वगंधा कैप्सूल शरीर की कमजोरी को दूर कर शारीरिक शक्ति बढ़ाने में मदद करता है।

लेकिन आपको इन कैप्सूल्स का पूरा फायदा तभी मिलेगा जब आप नियमित व्यायाम के साथ-साथ पौष्टिक आहार लेंगे। इस तरह इन कैप्सूल्स को रोजाना लेने से एक महीने में फर्क दिखने लगता है।

मोटा होने के पतंजलि कैप्सूल के फायदे – mota hone ke patanjali capsule in Hindi

  • कोर्टिसोल नामक तनाव हार्मोन के स्तर को कम करके तनाव से राहत देता है।
  • इसकी एंटी-ऑक्सीडेंट संपत्ति ऊर्जा में सुधार करती है और सहनशक्ति और सहनशक्ति को बढ़ाती है।
  • तनाव का इलाज करता है और शरीर की चयापचय गतिविधियों में सुधार करता है।
  • तंत्रिका और प्रतिरक्षा प्रणाली को पोषण देता है।
  • एक शक्तिशाली पुनरोद्धारकर्ता के रूप में कार्य करता है।

 

मोटे होने के लिए टिप्स व तरीके – Mota hone ke liye tips hindi me 

  • हमेशा सुबह जल्दी उठने की कोशिश करें।
  • रोजाना कम से कम 8 घंटे की गहरी नींद लें।
  • मोटापा कम करने के लिए योग करना बहुत फायदेमंद होता है।
  • अपनी डाइट में प्रोटीन और फैट वाली चीजों को शामिल करें।
  • सुबह शाम दूध पीना शुरू कर दें।
  • रोज सुबह खाली पेट 2 गिलास पानी पिएं।
  • रोजाना 5 मिनट प्राणायाम करें। (कपालभाती)
  • सुबह और शाम को पूरा भोजन करें
  • तीन बार खाने के बजाय पांच बार खाना चाहिए।
  • आहार में अधिक कैलोरी युक्त भोजन करें।
  • कॉफी और चाय पीने की बजाय लस्सी, फलों का जूस और शेक पीने की आदत डालें।
  •   अंजीर, बादाम और खजूर को दूध में उबालकर खा लें।
  • तनाव कम करें, अधिक नींद लें और शरीर को आवश्यक आराम दें।
  • दूध पीने के साथ-साथ केला खाएं और केला शेक भी पिएं।
  • ज्यादा से ज्यादा पानी पिएं और फास्ट फूड की जगह फल खाने की आदत डालें।
  • जंक फूड खाने से बचना चाहिए।
  • रोजाना व्यायाम और योग करना चाहिए।

 

मोटा होने के घरेलू उपाय – Mota hone ke gharelu upay

कई लोग मोटापे से परेशान हैं वहीं कई लोग अपने पतले होने से परेशान हैं. कुछ लोगों का वजन नहीं बढ़ता है चाहे वे कितना भी खा लें इसलिए आज हम आपको मोटा होने के घरेलू उपाय बता रहे हैं। (mota hone ki ayurvedic dawa in hindi)

 

मोटे होने की आयुर्वेदिक दवा है दूध और केला

हमेशा कहा जाता है कि केला और दूध को एक साथ खाने से वजन बढ़ता है। लेकिन यह बिलकुल सच है। दूध और केला एक साथ ज्यादा असरदार होते हैं। केला खाने से पाचन क्रिया भी बहुत अच्छी रहती है।

 

आम और दूध मोटा होने की देसी दवा

दूध में मैग्नीशियम, प्रोटीन और कैल्शियम जैसे कई पोषक तत्व होते हैं। ये सभी विटामिन और मिनरल वजन बढ़ाने के लिए काफी कारगर होते हैं। आम और दूध का मैंगो शेक बहुत फायदेमंद होता है। यह मोटा होने की देसी दवा हैं।

 

घी और चीनी हैं मोटा होने की दवा आयुर्वेदिक

घी एक ऐसी चीज़ होती है जिस से एनर्जी बनी रहती है और आपका शरीर एकदम से कमज़ोर और नहीं हो पता है। इसको ज्यादा से ज्यादा रोटी पर लगाकर खाएं और सब्जी वगेरा में भी ऊपर से डालकर खा सकते हैं।

 

सूखे अंजीर और किशमिश हैं मोटा होने की आयुर्वेदिक दवा 

मोटा होने के लिए आप सूखे मेवे खाएं, मोटा होने का ये है बेहद सटीक तरीका। हर व्यक्ति को रोजाना एक मुट्ठी सूखे मेवे खाने चाहिए। इसे खाने का तरीका यह है कि 6 सूखे अंजीर और 30 ग्राम किशमिश को रात भर पानी में भिगो दें और अगले दिन सुबह-शाम दो बार खाएं। ऐसा लगातार एक महीने तक करने से आपको फर्क नजर आने लगेगा।

 

इसे पढ़ें5 बेहतरीन खून बढ़ाने की सिरप

इसे पढ़ेंखून साफ करने की आयुर्वेदिक दवा

 

निष्कर्ष  – The Conclusion

यह पूरा आर्टिकल मोटा होने की आयुर्वेदिक दवा (Mota Hone Ki Ayurvedic Dawa in Hindi) में सभी आयुर्वेदिक दवाइयां बताई गयी हैं जो मोटा होने में आपकी मदद करती हैं और जो सुरक्षित तरीके से आपका वजन बढ़ाते हैं साथ मोटे होने के लिए टिप्स व तरीके और मोटे होने के घरेलू उपाय भी बताये हैं

अगर आप इनमे से कोई भी मोटे होने की दवा लेते हैं और साथ ही बताये गए टिप्स व उपायों को फॉलो करते हैं, तो एक महीने में आप कम से कम 3-4 किलो वजन आसानी से बढ़ा सकते हैं

Share

1 thought on “मोटा होने की आयुर्वेदिक दवा | Mota Hone Ki Ayurvedic Dawa in Hindi”

Leave a Comment